महात्मा गाँधी जी का जीवन परिचय II Biography of Mahatma Gandhi

महात्मा गाँधी जी का जीवन परिचय  

Biography of Mahatma Gandhi 


आज के इस अध्याय में हम महात्मा गाँधी जी के संपूर्ण जीवन परिचय का अध्ययन करेंगे। 

मोहनदास करमचंद गांधी, जिन्हें आमतौर पर महात्मा गांधी के नाम से जाना जाता है, भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता थे। उन्होंने अपने अनूठे आंदोलनों और अहिंसा के सिद्धांत के लिए प्रसिद्धता प्राप्त की। 

  • मोहनदास करमचंद गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर शहर में हुआ था। उनके पिता करमचंद गांधी एक सफल व्यापारी थे और उनकी मां पुतलीबाई एक धार्मिक महिला थीं। उनका बचपन धार्मिक संस्कारों से भरा था, और वे बचपन से ही सत्याग्रह और अहिंसा के प्रति रुचि रखते थे।
  • गांधी जी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पोरबंदर और राजकोट के विद्यालयों से प्राप्त की। इसके बाद, उन्होंने लंदन जाकर इनर टेम्पल कॉलेज में कानून की पढ़ाई की। यहाँ उन्होंने अपने जीवन के बड़े हिस्से को बिताया और वहाँ की सामाजिक और राजनीतिक समस्याओं का सामना किया।
  • वापस भारत लौटने के बाद, गांधी जी ने अपने करियर को एक वकील के रूप में आगे बढ़ाया, लेकिन उनके दिल में गरीबों और असमानता के प्रति गहरी चिंता बनी रही। 1915 में, वे भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के हिस्से के रूप में साउथ आफ्रिका गए, जहाँ उन्होंने अपार्ठेड नीति के खिलाफ सत्याग्रह का संचलन किया।
  • गांधी जी का सत्याग्रह का सिद्धांत उनके जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा था। उन्होंने यह सिद्धांत अहिंसा, सच्चाई और धर्म के प्रति अपनी निष्ठा के साथ जोड़ा। उन्होंने अहिंसा को शक्तिशाली और प्रभावी तरीके से समझाया और यह सिद्ध किया कि अहिंसा का अभ्यास करके ही हम सबसे बड़े समस्याओं का समाधान कर सकते हैं।
  • 1919 में, जलियांवाला बाग में हुई बर्बर हत्या के बाद, गांधी जी ने नेतृत्व में होने वाले अखिल भारतीय सत्याग्रह का आयोजन किया। इस सत्याग्रह के दौरान, भारतीय जनता ने अपनी आवाज उठाई और अंग्रेज साम्राज्य के खिलाफ सड़कों पर उतरकर अपने अधिकारों की रक्षा की। इस सत्याग्रह के परिणामस्वरूप, राष्ट्रीय कांग्रेस ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के नेता के रूप में गांधी जी का स्वागत किया।
  • गांधी जी के नेतृत्व में, भारतीय स्वतंत्रता संग्राम अहिंसा और सत्य के प्रति उनके प्रतिबद्ध अनुयायियों के साथ बढ़ चढ़ कर रहा। उन्होंने नमक सत्याग्रह, दांडी मार्च, और विभाजन नहीं विलय की अहिंसापूर्ण अभियानों का आयोजन किया, जिनमें भारतीय समुदायों को एक साथ लाने का प्रयास
  • किया गया।
  • गांधी जी का एक अहिंसापूर्ण और सामाजिक अंदोलन था, जिसमें वे जातिवाद, उपेक्षा, और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ते रहे। उन्होंने खादी और चरक्का का प्रचार किया, जिसका मक्सद था स्वदेशी आंदोलन को बढ़ावा देना और अंग्रेजी सामान का बहिष्कार करना। उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को एक सामाजिक और आध्यात्मिक आंदोलन बना दिया, जिसमें समाज के हर वर्ग और जाति के लोग भाग लेते थे।
  • 1942 में, गांधी जी ने "क्विट इंडिया" आंदोलन का आयोजन किया, जिसका मक्सद था भारत से अंग्रेजों को बाहर करना। इसके परिणामस्वरूप, गांधी जी और अन्य नेताओं को कैद किया गया, लेकिन उनका आंदोलन अंग्रेज साम्राज्य के खिलाफ महत्वपूर्ण कदम था।
  • 1947 में, भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के परिणामस्वरूप, ब्रिटिश साम्राज्य ने भारत से अपना शासन समाप्त किया और भारत एक स्वतंत्र गणराज्य बन गया। इस समय, महात्मा गांधी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख नेता थे, और उनके नेतृत्व में भारतीय जनता ने अपनी स्वतंत्रता प्राप्त की।
  • लेकिन गांधी जी का यह कार्यकाल केवल स्वतंत्रता संग्राम के लिए ही था, वे समाज के अल्पसंख्यकों और दलितों के अधिकारों की रक्षा के लिए भी जूझते रहे। उन्होंने अपने जीवन में सर्वोपरि भारतीय समाज के उन लोगों की आवश्यकताओं की दिशा में अपनी सेवाएँ दी, जिन्होंने समाज के मानवाधिकारों की जगह समाज के सामाजिक और आर्थिक समानता की मांग की।
  • 1948 में, गांधी जी की दुर्भाग्यपूर्ण मौत हुई, जिसके पीछे हिन्दू-मुस्लिम सम्बंधों के मुद्दे पर एक हिन्दू वादी ने उन्हें गोली मार दी। उनकी मौत ने देश और पूरे विश्व को सुनाया कि अहिंसा और सच्चाई के प्रति अपनी निष्ठा से जीने और मरने वाले कितने ही महत्वपूर्ण हो सकते हैं।
  • महात्मा गांधी का जीवन एक अद्वितीय उदाहरण है, जो दृढ़ संकल्प, अहिंसा, और सच्चाई के प्रति समर्पित था। उनके माध्यम से ही हमने दिखाया कि अहिंसा और सच्चाई के माध्यम से विश्वास करके हम बड़ी मुश्किलों का समाधान कर सकते हैं। उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को एक आध्यात्मिक और सामाजिक आंदोलन बना दिया और दुनिया को यह सिखाया कि अहिंसा और सत्य के माध्यम से अपार शक्ति होती है।
  • इस प्रकार, महात्मा गांधी का जीवन हमारे लिए एक महत्वपूर्ण प्रेरणा स्रोत है, जो हमें सच्चाई, अहिंसा, और सामाजिक न्याय के महत्व को समझने के लिए प्रोत्साहित करता है। उनके जीवन और उनके आंदोलन ने विश्व को दिखाया कि एक व्यक्ति की संकल्पना और समर्पण से हम बड़ी मुश्किलों का सामना कर सकते हैं और समाज में सुधार ला सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने